Detailed Notes on रात को सोते समय यह 3 शब्द बोलते ही देखो वशीकरण का चमत्कार +91-9914666697




उच्छिष्टमपि चामेध्यं भोजनं तामसप्रियम् ….गीता १७/१ 

K. Sharma ji then we satisfied him and told us challenge to him. He requested us to provide a photograph of my son and his cloth. He performed a Pooja and explained to us that within just one particular month your son will be again. And actually it was real as soon after some times my son was at your home. I actually enjoy the knowledge of Pandit ji in Astrology. See Additional

आज तक ऐसा कोई महानुभाव मुझे नहीं मिला जो मेरे प्रशनो के उत्तर दे पाया हो, क्या किसी साईं भक्त में इतनी बुद्धि विवेक या साहस नहीं की वो अंधभक्ति छोड़ कर प्रशनो का उत्तर दे सके,

“बाबा का शरीर अब वहीँ विश्रांति पा रहा है” — स्पष्ट है इसे दफन ही किया गया !

दस गानु की झूठी कहानी को इतना प्रचारित किया गया की उसके बाद के सभी लेखकों ने साईं बाबा की वही जीवनी लिखी,शिर्डी साईं संसथान के सभी प्रमुख पदाधिकारियों को यह मालूम है लेकिन साईं के व्यवसाय को बढाने के लिए वे इसी कहानी को प्रचारित करते हैं और झूठी कहानी को हवा दे रहे हैं.

Close friends if their is only one grasp of all then He's just the supreme god which is recognized as Om, whose name could be heard by a deaf and discuss by dumb.

साईं भक्तों बाबा ने अपने मुह से कभी अपने जन्म,माँ,बाप और अपने गुरु के बारे में नहीं कहा,तो यह झूठी कहानियां किसलिए सिर्फ बाबा के नाम पर पैसे बटोरने के लिए.आँखें खोलो और साजिश को समझो.

He is a total fraud; a funds minting device. He works by using scare strategies to exhort income from Determined people. His needs for cash keeps rising with Wrong hopes indicating he's not charging a penny -.

झूठ पर सदेव सत्य की और बुराई पर सदेव  अच्छाई की विजय होती है ! जय श्री राम 

इसमे हमारा नहीं आपका ही फायदा है …. श्रद्धा और अंधश्रद्धा में फर्क होता है,

गीता में भी भगवान श्रीकृष्ण कहते हैं कि भूत प्रेत, मूर्दा (खुला या दफ़नाया हुआ अर्थात् कब्र अथवा समाधि) को सकामभाव से पूजने वाले स्वयं मरने के बाद भूत-प्रेत ही बनते हैं.

My son gone missing as he has some argument in the home and he ran absent from your home. We tried read more out our greatest to seek out him. We gave his Image in many law enforcement stations and newspapers but the result was absolutely nothing. Then... my relative informed me to visit Pandit R.

अच्छा और बात साईं को भगवन का अंश कहने वालो के लिए ग्रंथो मई लिखा है ” ईश्वर अंश जीव अभिनाशी ” मतलब सभी जीव ईश्वर के अंश है इसका मतलब आप भगवान नही हो केवल अंश हो भगवान शिव ने समुद्र मै से निकले करोडो टन जहर को पी लिया वो ईश्वर थे आप उनके अंश हो थोडा सा आप भी चख लो पता चल जायेगा अंश और ईश्वर मई कितना फर्क है अगर आपको पूजा ही करनी है तो भगवान राम , कृष्ण, शिव जी , हनुमान जी या मत रानी की करो इस पाखंडी की क्यों

क्यूंकि मालिक सबका एक नहीं होता, ईश्वर और परमपिता परमेश्वर सबका एक होता है,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *